Advertisement (468 x 60px )


Wednesday, 1 December 2010

मीरा के गिरधर




एक बार और बजा दो न प्रभु ,
अपनी ये सुरीली बाँसुरिया ,
जियरा बौराया है आपके प्रेम में,
बैठ कर बिताती हूँ सारी रतियाँ।

===============================
भूख प्यास सब ले गए ओ गिरधर,
प्रेम की बाँसुरिया तो छोड़ जाओ न ,

मटकी उठाई मैंने आपके प्रीत की ,
कभी मेरी मटकी भो फोड़ जाओ

कितना झूमते हो ग्वालन बीच प्रभु,
कभी मेरी बगिया भी कोड़ जाओ न ।

बुन कर रखी हूँ , गुलाब की लड़ियाँ ,
कभी आकर इन्हें भी तोड़ जाओ न ।

तानें मारे लोग , गोहराये कह कर गुजरिया ,
कभी आकर इनकी बातें मरोड़ जाओ न ।

बैठी हूँ आश में ओ श्याम !
घुंघटा चढ़ाये,सिन्धुर सजाये ,
वीणा बजाये , काजल लगाये ,
कभी मूर्ति से बाहर झाँक जाओ न ।

================================


~यज्ञ दत्त मिश्र
१/१२/२०१० ६:०२ प्रातः

22 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

जय हो बंसी वाले कृष्ण भगवान की!

ALOKITA said...

achi rachna

दिगम्बर नासवा said...

वाह .. सुन्दर भजन .. जय हो लड्डू गोपाल की ..

Yagya said...

shree krishna ji ki leela hi aisi hai ... sabke man me prem ras ghul jaye..

--------------------
sabhi pathako ko dhanyavaad ..

Yagya

abhishek said...

sunder :)

abhishek said...

sunder :)

आनन्‍द पाण्‍डेय said...

ब्‍लागजगत पर आपका स्‍वागत है ।

संस्‍कृत की सेवा में हमारा साथ देने के लिये आप सादर आमंत्रित हैं,
संस्‍कृतम्-भारतस्‍य जीवनम् पर आकर हमारा मार्गदर्शन करें व अपने
सुझाव दें, और अगर हमारा प्रयास पसंद आये तो हमारे फालोअर बनकर संस्‍कृत के
प्रसार में अपना योगदान दें ।

यदि आप संस्‍कृत में लिख सकते हैं तो आपको इस ब्‍लाग पर लेखन के लिये आमन्त्रित किया जा रहा है ।

हमें ईमेल से संपर्क करें pandey.aaanand@gmail.com पर अपना नाम व पूरा परिचय)

धन्‍यवाद

Poorviya said...

badhaai ho.

रामदास सोनी said...

मेरे तो गिरधर गोपाल दूजा ना कोई...
मीरा हो गई मगन, ऐसी लागी लगन वो तो गली-गली हरि गुण गाने लगी...
की भांति एक अच्छी रचना।
ब्लॉग जगत में आपका अभिनंदन है।

सुशील बाकलीवास said...

ब्लागजगत में आपका स्वागत है. शुभकामना है कि आपका ये प्रयास सफलता के नित नये कीर्तिमान स्थापित करे । धन्यवाद...

आप मेरे ब्लाग पर भी पधारें व अपने अमूल्य सुझावों से मेरा मार्गदर्शऩ व उत्साहवर्द्धऩ करें, ऐसी कामना है । मेरे ब्लाग जो अभी आपके देखने में न आ पाये होंगे अतः उनका URL मैं नीचे दे रहा हूँ । जब भी आपको समय मिल सके आप यहाँ अवश्य विजीट करें-

http://jindagikerang.blogspot.com/ जिन्दगी के रंग.
http://swasthya-sukh.blogspot.com/ स्वास्थ्य-सुख.
http://najariya.blogspot.com/ नजरिया.

और एक निवेदन भी ...... अगर आपको कोई ब्लॉग पसंद आवे तो कृपया उसे अपना समर्थन भी अवश्य प्रदान करें. पुनः धन्यवाद सहित...

priyanka said...

very nice dear......ye compose kar sakte hai....nice lyrics....mera aashirvaad hamesha tumhare saath hai!!keep it up

Yagya said...

Aap sabhi ko sahriday dhanyvaad ...
-----------------------------------

Mere blog me aap sab logon ka swagat hai,bahut khushi hui jo aap yahan aaye or tippani kiye ...

-----------------------------------

@Priyanka ...

aap ise compose kariye...please , or gayiye bhi ...bahut khushi hogi mujhe...thank you so much

POOJA... said...

वाह यज्ञ... बहुत खूब...
बहुत ही सुन्दर रचना...

वन्दना said...

सुन्दर भाव्…………जय श्री कृष्ण्।

Nirankush Aawaz said...

लेखन के मार्फ़त नव सृजन के लिये बढ़ाई और शुभकामनाएँ!
-----------------------------------------
जो ब्लॉगर अपने अपने ब्लॉग पर पाठकों की टिप्पणियां चाहते हैं, वे वर्ड वेरीफिकेशन हटा देते हैं!
रास्ता सरल है :-
सबसे पहले साइन इन करें, फिर सीधे (राईट) हाथ पर ऊपर कौने में डिजाइन पर क्लिक करें. फिर सेटिंग पर क्लिक करें. इसके बाद नीचे की लाइन में कमेंट्स पर क्लिक करें. अब नीचे जाकर देखें :
Show word verification for comments? Yes NO
अब इसमें नो पर क्लिक कर दें.
वर्ड वेरीफिकेशन हट गया!
----------------------

आलेख-"संगठित जनता की एकजुट ताकत
के आगे झुकना सत्ता की मजबूरी!"
का अंश.........."या तो हम अत्याचारियों के जुल्म और मनमानी को सहते रहें या समाज के सभी अच्छे, सच्चे, देशभक्त, ईमानदार और न्यायप्रिय-सरकारी कर्मचारी, अफसर तथा आम लोग एकजुट होकर एक-दूसरे की ढाल बन जायें।"
पूरा पढ़ने के लिए :-
http://baasvoice.blogspot.com/2010/11/blog-post_29.html

Nirankush Aawaz said...

लेखन के मार्फ़त नव सृजन के लिये बढ़ाई और शुभकामनाएँ!
-----------------------------------------
जो ब्लॉगर अपने अपने ब्लॉग पर पाठकों की टिप्पणियां चाहते हैं, वे वर्ड वेरीफिकेशन हटा देते हैं!
रास्ता सरल है :-
सबसे पहले साइन इन करें, फिर सीधे (राईट) हाथ पर ऊपर कौने में डिजाइन पर क्लिक करें. फिर सेटिंग पर क्लिक करें. इसके बाद नीचे की लाइन में कमेंट्स पर क्लिक करें. अब नीचे जाकर देखें :
Show word verification for comments? Yes NO
अब इसमें नो पर क्लिक कर दें.
वर्ड वेरीफिकेशन हट गया!
----------------------

आलेख-"संगठित जनता की एकजुट ताकत
के आगे झुकना सत्ता की मजबूरी!"
का अंश.........."या तो हम अत्याचारियों के जुल्म और मनमानी को सहते रहें या समाज के सभी अच्छे, सच्चे, देशभक्त, ईमानदार और न्यायप्रिय-सरकारी कर्मचारी, अफसर तथा आम लोग एकजुट होकर एक-दूसरे की ढाल बन जायें।"
पूरा पढ़ने के लिए :-
http://baasvoice.blogspot.com/2010/11/blog-post_29.html

Nirankush Aawaz said...

लेखन के मार्फ़त नव सृजन के लिये बढ़ाई और शुभकामनाएँ!
-----------------------------------------
जो ब्लॉगर अपने अपने ब्लॉग पर पाठकों की टिप्पणियां चाहते हैं, वे वर्ड वेरीफिकेशन हटा देते हैं!
रास्ता सरल है :-
सबसे पहले साइन इन करें, फिर सीधे (राईट) हाथ पर ऊपर कौने में डिजाइन पर क्लिक करें. फिर सेटिंग पर क्लिक करें. इसके बाद नीचे की लाइन में कमेंट्स पर क्लिक करें. अब नीचे जाकर देखें :
Show word verification for comments? Yes NO
अब इसमें नो पर क्लिक कर दें.
वर्ड वेरीफिकेशन हट गया!
----------------------

आलेख-"संगठित जनता की एकजुट ताकत
के आगे झुकना सत्ता की मजबूरी!"
का अंश.........."या तो हम अत्याचारियों के जुल्म और मनमानी को सहते रहें या समाज के सभी अच्छे, सच्चे, देशभक्त, ईमानदार और न्यायप्रिय-सरकारी कर्मचारी, अफसर तथा आम लोग एकजुट होकर एक-दूसरे की ढाल बन जायें।"
पूरा पढ़ने के लिए :-
http://baasvoice.blogspot.com/2010/11/blog-post_29.html

Patali-The-Village said...

बहुत सुन्दर रचना| धन्यवाद|

मनोज कुमार said...

बहुत सुंदर भजन। जय श्री कृष्ण।

संगीता पुरी said...

इस नए चिट्ठे के साथ हिंदी ब्‍लॉग जगत में आपका स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

खबरों की दुनियाँ said...

नए चिट्ठे के साथ हिंदी ब्‍लॉग जगत में आपका स्‍वागत है , अच्छी पोस्ट , शुभकामनाएं । पढ़िए "खबरों की दुनियाँ"

हरीश सिंह said...

" भारतीय ब्लॉग लेखक मंच" की तरफ से आप, आपके परिवार तथा इष्टमित्रो को होली की हार्दिक शुभकामना. यह मंच आपका स्वागत करता है, आप अवश्य पधारें, यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो "फालोवर" बनकर हमारा उत्साहवर्धन अवश्य करें. साथ ही अपने अमूल्य सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ, ताकि इस मंच को हम नयी दिशा दे सकें. धन्यवाद . आपकी प्रतीक्षा में ....
भारतीय ब्लॉग लेखक मंच